मंगल ग्रह की सतह पर मिले पानी होने के सबूत, आखिर वैज्ञानिक मंगल ग्रह पर जीवन की तलाश में इतने सालों से क्यों लगे हैं?

मंगल ग्रह जिसे हमारी पृथ्वी की बहन भी कहा जाता है, हमारे धर्म ग्रंथों में भी मंगल ग्रह के विषय में जानकारियां तथा वर्णन सदैव प्राप्त होते रहे हैं। आइए हम मंगल ग्रह के विषय में कुछ ऐसी बातें जानते हैं जो शायद हमें पूर्व विदित नहीं थे। आपको बता दें उपलब्ध जानकारियां इंटरनेट से प्राप्त की गई है, तथा सटीकता की 100% गारंटी लेखक नहीं लेता है, उपलब्ध कंटेंट पर यकीन करना आपके तर्क तथा आपके ज्ञान पर आश्रित हैं, पोस्ट को पूरा पढ़ कर लेखक की मेहनत सार्थक करें। धन्यवाद।।

 

लेखक की विनती ✓✓

महोदय यह पोस्ट केवल आपके लिए लिखा गया है तथा आपके द्वारा सकारात्मक प्रतिक्रिया की सदा आवश्यकता बनी रहेगी दर्शकों के अलावा और कोई इस पोस्ट को नए आयाम नहीं दे सकता इसलिए आपसे विनती है कि पोस्ट पसंद आए तो फलो तथा लाइक अवश्य दें।

हमारे सौरमंडल में क्या सिर्फ पृथ्वी पर ही जीवन के लिए अनुकूल परिस्थितियां उपलब्ध है, या अन्य ग्रह जैसे मंगल ग्रह पर भी जीवन की अनुकूल परिस्थितियां तत्काल में रही है, या भूतकाल में रही हैं, इसी की जानकारी के लिए वैज्ञानिक निरंतर मंगल ग्रह के विषय में खोज किए जा रहे हैं, मंगल ग्रह पर खोज करना मेहनत के साथ-साथ काफी खर्चीला भी है,परंतु फिर भी इस पर खोज निरंतर किया जा रहा है,आइए जानते हैं, की यह महज जिज्ञासा वस किया जा रहा है, या इसकी वास्तव में आवश्यकता है।

टेस्ला के सीईओ तथा स्पेसेक्स के संस्थापक एलोन मस्क के जीवन का एकमात्र लक्ष्य वर्तमान में यह बना हुआ है,कि वह पृथ्वी के अधिकांश मनुष्य को मंगल ग्रह पर अनुकूल जीवन के लिए परिस्थितियां उपलब्ध करा कर वहां पर अपने द्वारा ले जाए गए मनुष्यों को जीवन यापन कराएंगे।

https://en.m.wikipedia.org/wiki/Mars

जिस भी विषय पर मेहनत तथा लगन के साथ खोज किया जाता है उसमें निरंतर नए नए आयाम उत्पन्न होते रहते हैं, नई-नई जानकारियां प्राप्त होती रहती है, इसी तरह मंगल ग्रह पर भी हमें बहुत सारी जानकारियां प्राप्त हुई है, जिसस यह तो साबित हो जाता है, कि मंगल ग्रह पर पानी तो पहले अवश्य उपलब्ध था परंतु तत्काल में यहां पानी किन परिस्थितियों के कारण विलुप्त हो गया है, इस पर अभी वैज्ञानिकों की खोज हो रही है तथा भविष्य में इससे जुड़ी जानकारी हमें अवश्य प्राप्त होगी।

पृथ्वी पर मनुष्य बहुत ही बड़ी मात्रा में प्रदूषण फैला रहे हैं, पृथ्वी पर ग्लोबल वार्मिंग का खतरा भी बढ़ता जा रहा है, मनुष्यों के द्वारा आपत्तिजनक कार्य किए जा रहे हैं बड़ी मात्रा में प्रदूषण फैलाया जा रहा है इसलिए अगर मनुष्य को दो वर्गों में विभक्त कर कुछ को मंगल ग्रह पर स्थापित कर दिया जाए तो पृथ्वी पर प्रदूषण की मात्रा कम हो जाएगी।

इस पोस्ट में आपकी उपस्थिति अगर होगी तो आप वह खबर भी अवश्य प्राप्त करेंगे।

इसी विषय पर दूसरी पोस्ट जल्द आएगी कृपया इस पोस्ट से जुड़े रहें।

इसलिए कृपा करके पोस्ट को फॉलो अवश्य करें तथा अपनी सकारात्मक प्रतिक्रिया अवश्य दें।

Comments

You must be logged in to post a comment.

About Author

Hello♥️ Here I provide video articles on random topics to all of you.It is the desire of an author that people are happy to read his article and give him good feedback. The author gets frustrated when he doesn't get a positive response to his article.If you like the article, then definitely tell and if you do not like the article, then why it is not coming, then definitely inform the author about it.