ईविल नन डरावनी कहानी (Evil nun horror storys)

Evil nun

यह कहानी एक जेसिका नाम की लड़की की हैं। जेसिका एक गरीब परिवार की थी। उसकी मां तभी गुजर गई जब वो 8 साल की थी। घर में वो और उसका भाई और पापा रहते थे। उसके पापा अकसर शराब पीकर जेसिका को मारा करते थे। एक दिन यह सब एतना बढ़ गया कि जेसिका को अपने छोटे भाई को लेकर घर से भागना पड़ा। वह दिन बचे नागपुर से भागकर अब गोवा आ चुके थे। 15 साल की जेसिका ने भागने का डिसीजन तो ले लिया था। मगर वो अपना और अपने 9 साल के भाई का ध्यान एक अनजान जगह पर कैसे रखेगी। ये वो नहीं जानती थी। जेसिका और उसका भाई जों एक चर्च के सामने बैठ गए। वहीं लोगो से भीख मागने लगे। तभी उधर से गुजर रही एक नन ने उन दोनों बच्चों को देखा। और उनसे बात करने आ गई। जेसिका ने उस नन को सब कुछ बताया। और उस नन को उस पर बहुत तरस आ गया। और वो उन्हे अपने साथ उस चर्च में ले गई। जेसिका और जों ने वहीं रहना शुरू कर दिया। जेसिका ने जों का एडमिशन चर्च की स्कूल में करवा दिया। और वो खुद एक प्रे ग्रुप कि एक पर्टा बना गई। जल्दी ही जेसिका का पूरा घुकाव गोड की तरफ हो गया। और चर्च ने उसे भी एक नन बना दिया। मगर नन बनाने के बाद जेसिका के साथ कुछ ऐसा होना शुरू हो गया जो उसने कभी सपने में भी नहीं सोचाएक रात जेसिका अपने रूम में सो रही थी तो उसे अचानक दोहरे पड़ने लगे वो ऐसे चीखने लगी जैसे कोई ऐसे बहोत जोर से मार रहा हो। जब बाकी की नन उसकी आवाज सुनकर उसके कमरे में आई तो को हैरान रहा गई। जेसिका का शरीर अकड़ा पड़ा था। और उसकी आंखे बिल्कुल सफ़ेद हो गई थी। वो दर्द से चिला रही थी।उसकी आवाज उसकी नहीं बल्कि किसी आदमी की लग रही थी।यह देखा कर एक नन ने जेसिका पर गोली वोटर डाल दिया। और जेसिका के जिसम से धुआ निकल ने लगा। उसके बाद कुछ ही पलों में में वो सांत्त हो गई। ऐसा हादसे के बाद से जेसिका की तबीयत खराब रहने लगी। उसके बरताव में काभी बदलाव आने लगा। अब वो चर्च में आती ही नहीं थी। और देर रात तक वो कोरेडोस में अकेले गुमती थी। कभी वो ने वक़्त हसने लगती।कभी कभी वह किसी आदमी की आवाज में अजीब अजीब आवाजें निकलती थी। कभी किसी पर जोर से दहाड़ती थी। जैसे कोई जानवर है। तो कभी कोने में बेढ़ी रोटी रहती, चर्च के सभी लोगो को समझ आ गया था। की जेसिका पोजेस हो चुकी है। इसलिए उसके इक्कोजियम के लिए सभी ने तयारी करनी सुरु कर दी। इक्कोजियाम की रात जब एक नन जेसिका के रूम में उस देखने गई। तो जेसिका वहा थी ही नहीं वो नन उसेपूरे कमरे में डूडने लगी। मगर जेसिका कहीं नहीं थी। लेकिन जैसे ही वो नन बाहार जाने के लिए पीछे मुडी तभी उसका दिल पूरी तरह देहेल उठा जेसिका एक काला ग्राउन पहने दीवार से चिपकी पड़ी थी। पोसेंटी में काले कपड़े तब पहने है जब कोई मर जाता है। जेसिका के मुंह से खून निकल रहा था। वो एक जानवर की तरह भारी आवाज में दहाड़ रही थी। अचानक वो उस नन पर कूद पड़ी। इतनी ही देर में जेसिका के कमरे में बाकी सब ही आगाए। वो उन्हे देख कर जेसिका पागलों की तरह हसने लगी। गोड की इंसर्ट करने लगी। ऐसा ने उसा पर गोली वोटर डाला तो वो दर्द से चिखा उडी। और खुदा को इजोसियाम से बचाने के लिए वो अपने कमरे की खिड़की से नीचे कूद गई। जेसिका की जान तो बच गई। मगर उसकी रिड की हड्डी पूरी तरह से डैमेज हो गई थी। जिसकी वजह से भिर कभी चल नहीं पाई। इसके बाद जेसिका का इक्कसोसिजियम होना काभि आसान हो गया। जब तक चर्च के लोगो ने उसका इक्कसोसियाम सुरु किया। तब तक उसके अन्दर का डेविल उसके अन्दर से जा चुका था। जेसिका को चर्च ही हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया। ईसता ये जानना चाहता थे क्या आखिर जेसिका के साथ यह क्यू और कैसे हुआ। उन्होंने जेसिका को हिप्नोटिज्मकरने का सोचा एक छोटी सी इंवेटिकेशन टीम बनाकर पताकरने लगे कि आखिर हुआ क्या था। काभि डूडने के बाद यह पता चला की जेसिका की मा एक कल्ट मेम्मबर थी। एक ऐसे कल्ट की मेम्बर जहा काला जादू करने वाले और डेविल की पूजा करने वाले लोग। जेसिका की मा ने डेविल को खुश करने के लिये कई सारी प्रक्रिया भी की। जब जेसिका छोटी थी तब जेसिका की मा ने जेसिका के शरीर का इस्तमाल करने कि कोशिश भी की थी। मगर जेसिका के पापा ने आकर उस बचा लिया था। लेकिन शायद तब तक देर हो चुकी थी। 4 साल की जेसिका किसी अजीब लेगवैंज कर्चेज बोलने लगी थी। उसका चेहेरा डरावना हो गया था। और उसने कहा वही अपने पापा के मौत का रीजन बनेगी। और उनकी मौत के बात ही डेविल का असली रूम ऐसा दुनिया में आजाएगा। अपना काला जादू उल्टा हो जाने की वजह से जेसिका की मा की डेथ हो गई। जेसिका के पापा जानते थे की जेसिका में भी इविल हेरा है। इसलिए धीरे धीरे वह उससे दूर होते गए। पर उससे नफरत करते लगे। जिस रात जेसिका अपने भाई को लेकर घर से भागी वो अपने पापा की शराब में जहर मिलाकर आए थी। और उसके पापा की मौत की तभी हो गई थी। उसके बाद से जेसिका पॉजेश हुई। जिसका मतलब यह था कि जेसिका को पॉजेश खुद डेविल ने किया था। ये सब जानने के बात ईस्ट का दिल पूरी तरह देहेल उड़ा। और उन्होंने जेसिका के भाई जों को आने पास बुलाया। तब उन्होंने देखा कि जों की पीठ पर हाथ पर अजीब निशान बने थे। वो समझ गए थे। की जेसिका भी अब अपनी मा को तरह पोजेस्ट होकर डेविल की पूजा करने लगी। और अपने भाई का शरीर उसी पूजा के लिए ईसत्माल कर रही थी। रह सब पता लगने के बात ईसत ने कई सारे इक्कसोजीयम किए थे। मगर जेसिका की तबीयत दिन बार दिन बिगडती गई। और आखिर में उसकी मौत हो गई। जॉन की पूरी जिममेदारी चर्च ने लेलि थी। और जेसिका के मरने के बात चर्च के लोगो ने उसकी मौत के लिए प्रे करने लगे

Comments

You must be logged in to post a comment.

About Author
Recent Articles
Feb 22, 2024, 10:35 PM Prakash pandey
Feb 22, 2024, 10:25 PM Prakash pandey
Feb 22, 2024, 10:15 PM Prakash pandey
Feb 22, 2024, 4:15 PM Junaidu Mustapha
Feb 22, 2024, 2:19 PM Junaidu Mustapha
Feb 22, 2024, 1:06 AM gokul